Story

बेचने वाला

By Ansulika Paul

जब वो अपने थके कदमों से आवाज़ लगते अपने अरमानो को पाने के लिए कुछ पैसे बनाता है। मेरा दिल…

पुरानी महक

By Samiksha Gaikwad

अस्पताल में लगी कुर्सियों में बैठी मैं अपनी बोरियत दूर करने मोबाइल में खुद को व्यस्त कर रही थी मेरे…

Archive

Archives

Shabd

It is a platform for poets and writers to share their talent with the world. Shabd provides space to poems, stories, articles, shayaris, and research articles. If you want to post, please log in first; after that, you will see the 'User Submitted Post' icon in the header, which you can click to submit your post.